विश्व पुस्तक दिवस | World Book and Copyright Day

विश्व पुस्तक दिवस के बारें में 

(23 अप्रैल)

हर साल 23 अप्रैल को विश्व पुस्तक और प्रकाशनाधिकार दिवस(Copyright Day) मनाया जाता है। विश्व पुस्तक दिवस

इस दिवस को मनाने का उद्देश्य –

इस दिवस को मनाने का मुख्य उद्देश्य आज की कम्प्यूटर की दुनिया में लोगों को पुस्तकों की और आकर्षित करना है। किताबों और लोगों के बीच दूरियां बढ़ गयी है उन्हें कम करने के लिए यह दिवस मनाया जाता है।

शुरुआत –

सबसे पहले 23 अप्रैल 1995 को पहली बार ‘पुस्तक दिवस’ मनाया गया और समय के साथ कालांतर में यह हर देश में व्यापक होता गया। भारत सरकार द्वारा 2001 से इस दिन को इस के रूप में मनाने की घोषणा की।
किताबों का हमारे जीवन में क्या महत्व है, इसके बारे में बताने के लिए ‘विश्व पुस्तक दिवस’ पर शहर के विभिन्न स्थानों पर सेमिनार आयोजित किये जाते हैं। कई संस्थान पुस्तकों का वितरण करते है।

इस दिवस को 23 अप्रैल को मनाने के पीछे एक महत्वपूर्ण कारण है आज ही के दिन 23 अप्रैल 1616 को एक महान अंग्रेजी के कवि, काव्यात्मकता के विद्वान नाटककार तथा अभिनेता विलियम शेक्सपियर ने दुनिया को अलविदा कहा था।

सिन्धु घाटी सभ्यता से सम्बन्धित महत्वपूर्ण प्रश्न

वेदों के बारें में 

शेर शाह सूरी

नासिरुद्दीन मुहम्मद हुमायूँ का जीवन परिचय एवम् महत्वपूर्ण प्रश्न

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: