भारतीय संविधान की विशेषताएं || भारत का संविधान

भारतीय संविधान की विशेषताएं

भारतीय संविधान की विशेषताएं

1. ‘मिनी कॉन्स्टिट्यूशन’ कहा जाता है-
अ. 40वां संविधान संशोधन अधिनियम, 1976
ब. 42वां संविधान संशोधन अधिनियम, 1976
स. 44वां संविधान संशोधन अधिनियम, 1978
द. 46वां संविधान संशोधन अधिनियम, 1982
उत्तर – ब
व्याख्या – 42वें संविधान संशोधन अधिनियम, 1976 को ‘मिनी कॉन्स्टिट्यूशन’ कहा जाता हैं।

2. विश्व का सबसे लंबा लिखित संविधान है –
अ. अमेरिका
ब. ब्रिटेन
स. फ्रांस
द. भारत
उत्तर – द
व्याख्या – भारत का संविधान विश्व का सबसे लंबा लिखित संविधान है। मूल रूप से भारतीय संविधान में एक प्रस्तावना, 395 अनुच्छेद, 8 अनुसूचियां और 22 भागों में विभक्त था। वर्तमान भारतीय संविधान में एक प्रस्तावना,470 अनुच्छेद, 12 अनुसूचियां और 25 भागों में विभाजित हैं।
अमेरिकी संविधान विश्व का संक्षिप्त संविधान है, जिसमें मात्र 7 अनुच्छेद हैं।

3. निम्न में से अलिखित संविधान हैं –
अ. ब्रिटेन
ब. अमेरिका
स. कनाडा
द. ऑस्ट्रेलिया
उत्तर – अ
व्याख्या – ब्रिटेन का संविधान अलिखित है। ब्रिटिश संविधान परम्पराओं और रीति – रिवाजों पर आधारित हैं।

4. भारतीय संविधान हैं –
अ. कठोर (अनम्य)
ब. लचीला (नम्य)
स. कठोर और लचीला
द. इनमें से कोई नहीं
उत्तर – स
व्याख्या – भारतीय संविधान कठोर और लचीला दोनों का मिला जुला रूप हैं।
कठोर संविधान – जिसमें संशोधन के लिए विशेष प्रक्रिया हो। उदाहरण – अमेरिकी संविधान
लचीला संविधान – जिसमें संशोधन प्रक्रिया सामान्य कानूनों के निर्माण जैसी हो। उदाहरण – ब्रिटिश संविधान।

5. निम्न में से भारतीय संविधान की विशेषता नहीं है –
अ. एकात्मक
ब. संघात्मक
स. एकात्मक और संघात्मक
द. न एकात्मक, न संघात्मक
उत्तर – स
व्याख्या – भारतीय संविधान एकात्मकता की भावना में संघ है।
भारतीय संविधान में संघीय लक्षण – दो सरकार, शक्ति विभाजन, संविधान की कठोरता, स्वतंत्र न्यायपालिका , द्विसदनीयता आदि।
एकात्मक लक्षण – एकल नागरिकता, अखिल भारतीय सेवाएं, आपातकालीन सेवाएं, केंद्र द्वारा राज्यपाल की नियुक्ति।

6. भारतीय संविधान को ‘सहकारी संघवाद’ की संज्ञा दी –
अ. के. सी. व्हियर
ब. ग्रेनविल ऑस्टिन
स. मॉरिस जोन्स
द. आइवर जेनिंग्स
उत्तर – ब
व्याख्या – ग्रेनविल ऑस्टिन ने भारतीय संविधान को ‘सहकारी संघवाद’ की संज्ञा दी
के. सी. व्हियर ने इसे ‘अर्ध संघ’ की संज्ञा दी
मॉरिस जोन्स ने इसे ‘सौदेबाजी संघवाद’ की संज्ञा दी
आइवर जेनिंग्स ने इसे ‘केंद्रीकृत प्रवृति के साथ महासंघ’ की संज्ञा दी।

7.मौलिक अधिकार संविधान के किस भाग में हैं?
अ. भाग 3
ब. भाग 4
स. भाग 5
द. भाग 6
उत्तर – अ
संविधान के भाग 3 में मौलिक अधिकारों का वर्णन किया गया हैं। जिसमें मूल रूप से 7 मौलिक अधिकार थे जबकि वर्तमान में 6 मौलिक अधिकार हैं।

 

8. किस संविधान संशोधन द्वारा मतदान की आयु 21 वर्ष से घटाकर 18 वर्ष कर दी गई?
अ. 59वां संविधान संशोधन अधिनियम
ब. 60वां संविधान संशोधन अधिनियम
स. 61वां संविधान संशोधन अधिनियम
द. 62वां संविधान संशोधन अधिनियम
उत्तर – स
व्याख्या- वर्ष 1989 में 61वें संविधान संशोधन अधिनियम, 1988 के द्वारा मतदान की आयु 21 वर्ष से घटाकर 18 वर्ष कर दी गई।

9. “भारतीय संविधान भाषा और वस्तु दोनों ही तरह से 1935 के अधिनियम की नकल है” भारतीय संविधान की आलोचना के संदर्भ में उक्त कथन है –
अ. लक्ष्मीनारायण साहू
ब. टी. प्रकाशम
स. पी. आर. देशमुख
द. एन. श्रीनिवासन
उत्तर – द
व्याख्या – उक्त कथन एन. श्रीनिवासन का हैं।
पी.आर. देशमुख – “संविधान अनिवार्यतः भारत सरकार अधिनियम, 1935 ही है, बस वयस्क मताधिकार उसमें जुड़ गया है”।

10. भारतीय संविधान को “वकीलों का स्वर्ग” कहा है –
अ. सर आइवर जेनिंग्स
ब. के. हनुमंथैय्या
स. एच. वी. कामथ
द. लोकनाथ मिश्रा
उत्तर – अ
व्याख्या – सर आईवर जेनिंग्स ने भारतीय संविधान को “वकीलों का स्वर्ग” की संज्ञा दी।
के. हनुमंथैय्या – “हम वीणा या सितार का संगीत चाहते थे, लेकिन यहां हम एक इंग्लिश बैंड का संगीत सुन रहे हैं”।
एच. वी. कामथ – “ जिस किरीट का हमने अपनी सभा के लिए चयन किया है, वह एक हाथी हैं”।
इन्होंने भारतीय संविधान को हाथीनुमा
संविधान बताया हैं।
*उक्त टिप्पणियां भारतीय संविधान की आलोचना के संदर्भ में हैं।

भारतीय संविधान की अनुसूचियां 

भारतीय संविधान का विकास

भारत  के  प्रधानमन्त्री से सम्बन्धित  महत्वपूर्ण  प्रश्न 

tags-
Characteristics of Constitution in hindi, स्विस संविधान की प्रमुख विशेषताएं, मेजी संविधान की विशेषता, लचीला संविधान किसे कहते हैं, संविधान सभा का चुनाव कैसे हुआ था, भारतीय संविधान के मुख्य स्रोत का वर्णन, भारतीय संविधान हिंदी PDF, संविधान के भाग की ट्रिक, संविधान का अर्थ, संविधान बनाने में कितना पैसा खर्च हुआ, भारतीय संविधान का इतिहास, भारतीय संविधान की प्रस्तावना का महत्व,

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: