अंतरिम सरकार का गठन कब हुआ ?

अंतरिम सरकार का गठन कब हुआ ?

24 अगस्त,1946 को अंतरिम राष्ट्रीय सरकार के गठन की घोषणा की गई। अंतरिम सरकार के सदस्यों में – नेहरू, वल्लभ भाई पटेल,आसफ अली, डॉ. राजेंद्र प्रसाद, सी. राजगोपालाचारी, शरतचंद्र बोस, डॉ. जान मथाई, सरदार बलदेव सिंह, सरफराज अहमद खां,जगजीवन राम, सैयद अली जहीर और डॉ. सी. एच. भाभा थे।

इस कार्यकारिणी परिषद के अध्यक्ष वायसराय थे तथा उपाध्यक्ष जवाहर लाल नेहरू थे। जवाहर लाल नेहरू के नेतृत्व में उनके 11 सहयोगियों के साथ 2 सितम्बर, 1946 को अंतरिम सरकार का गठन किया गया। मुस्लिम लीग अंतरिम सरकार में शामिल नहीं हुई, हालांकि अंतरिम सरकार में मुस्लिम लीग को शामिल होने का विकल्प खुला रखा गया था। अंततः 26 अक्टूबर,1946 को मुस्लिम लीग भी अंतरिम सरकार में शामिल होने के लिए सहमत हो गई। मुस्लिम लीग में पांच सदस्य – लियाकत अली खान, आई. आई. चुंदरीगर, अब्दुल रब निश्तर, गजनफर अली खान और जोगेंद्र नाथ मण्डल ( हिंदू अनुसूचित जाति का एक सदस्य) थे। मुस्लिम लीग का अंतरिम सरकार के साथ शामिल होने का उद्देश्य सरकार का सहयोग नहीं बल्कि पाकिस्तान की मांग की मांग के साथ सांप्रदायिकता बढ़ाना था। वित्तमंत्री के रूप में मुस्लिम लीग के लियाकत अली खान ने मंत्रिमंडल की कार्यवाहियों में बाधा पहुंचाई।

अंतरिम सरकार में शामिल होने के बावजूद मुस्लिम लीग ने संविधान सभा में शामिल होने से इंकार कर दिया। मुस्लिम लीग की अनुपस्थिति में ही 9 दिसंबर ,1946 को राजेंद्र प्रसाद की अध्यक्षता में संविधान सभा की प्रथम बैठक दिल्ली में हुई, मुस्लिम लीग ने इसका बहिष्कार किया। एक राजनैतिक घोषणा में कहा गया कि भारतीय राजनैतिक दलों के आपसी मतभेद संविधान सभा के कार्यो में विघ्न डालते है। इस अनिश्चितता को देखते हुए ब्रिटिश सरकार ने यह निर्णय लिया कि संविधान सभा के निर्णय मुस्लिम बहुल क्षेत्रों पर लागू नहीं होंगे। मुस्लिम लीग के असहयोग से परेशान होकर मंत्रिमंडल के 9 कांग्रेसी सदस्यों ने फरवरी ,1947 में वायसराय को पत्र लिखकर मांग की कि वे मुस्लिम लीग में सदस्यों को त्यागपत्र देने को कहें अन्यथा वे स्वयं इस्तीफा दे देंगे। सरदार पटेल ने भी मुस्लिम लीग के असहयोगात्मक रवैये से तंग आकर कहा कि अब जिन्ना विभाजन चाहे या न चाहे किंतु हम ब्रिटिश भारत का विभाजन चाहते है।

अंतरिम सरकार के अध्यक्ष कौन थे?, प्रथम अंतरिम सरकार का गठन कब किया गया था?, 1946 में रेल मंत्रालय का कार्य कौन देखता था?, अंतरिम प्रधानमंत्री कौन थे?,

Lokesh Tanwar

अभी कुछ ख़ास है नहीं लिखने के लिए, पर एक दिन जरुर होगा....